|| लोकोदय प्रकाशन की पुस्तकें ||


 वे तीसरी दुनिया के लोग
यही तो चाहते हैं वे
प्रतिपक्ष का पक्ष
आधुनिक कविता और..
कोकिला शास्त्र
 राजनीति के रंग
होते करते
 मुठभेड़ समय से
 जीवटता का बुन्देली राग
 बाबा उवाच
 भावों के मोती